इस ट्रिक से आप २१ दिन में इंग्लिश बोलना सीखेंगे

नमस्कार दोस्तो, आज का आर्टिकल आपके लिए यकीनन यादगार होने वाला है। इसकी वजह ये है की, हम आपको english bolna kaise sikhe इसकी सही से जानकारी देंगे।

तो आर्टिकल अंत तक पढ़े ताकि जा आप अंत में सही से समझे की आपसे क्या चूक हो रही है। तो मेरा नाम है निलेश और मैं आज आपको english bolna kaise sikhe इसकी सभी जानकारी दूंगा।

इंग्लिश कैसे सीखें?

english bolna kaise sikhe

तो दोस्तो आशा करता हु की आपको क्या करना है इसकी सही से जानकारी आज मिलेगी। तो शुरुवात शुरू से करते है। मान लो आप १ साल के बच्चे हो। और आपकी फैमिली में अभी के समय में हिंदी बोली जा रही है। तो जब आप २ साल के होंगे तब तक आपको आधी हिंदी भाषा आ चुकी होगी। इसी के साथ आप हिंदी बोलने भी लगोगे।

इस से कुछ समझ आ रहा है की नही? इंग्लिश सीखना है तो पहले उसे अपने रोजमर्रा के जीवन में लाना होगा। मैने बहुत से लोगो से सुना है की, मैने इंग्लिश बोलना सीखने के लिए कोर्स लगाया है। तो मैं उनसे कहता हु वो सभी लोग अपना पैसा और समय फिजूल में जाया कर रहे है।
लाखो बात की एक बात, अगर तुम को इंग्लिश सीखनी है तो पहले है दिन इंग्लिश वर्ड, उसके बाद इंग्लिश पंक्तियां, english sentence बोलना सीखो।

भले ही बोलते समय चूक जाओगे। भले ही तुम बोलते समय लड़खड़ाओगे । लेकिन कुछ महीनों बाद तुम महसूस करोगे की तुम शानदार इंग्लिश बोलने लगे हो। आपने देखा होगा की १ साल का बच्चा जब उसके मुंह से पहला वाक्य निकलता है तो वो भी लड़खड़ा जाते है। लेकिन कुछ महीनों के बाद वही बच्चा उसकी वाक्य को कितनी आसानी से बोलता है ये आपने नजदीक से देखा होगा । मुझे नहीं लगता की आपको कुछ और समझाने की जरूरत है ।

इंग्लिश बोलने में परेशानी क्यों आती है?

दोस्तो, इंग्लिश बोलना तभी आसान होगा जब आप उसे हर दिन थोड़ा थोड़ा बोलेंगे, अपने जीवन में इंग्लिश सेंटेंस का इस्तेमाल करोगे। तुम इंग्लिश पे पकड़ बनाओगे जब तुम अपने फैमिली या फिर दोस्तो के साथ इंग्लिश में बोलेंगे।

मेरी माने तो इंग्लिश न बोलने का दूसरा कारण है की, आपका डर, आप डरते हो की इंग्लिश बोलते समय आपसे चूक तो नही होगी। या यही सोच लेकर दोस्तो में या फिर अपने relatives में इंग्लिश बोलने से कतराते हो।

आप इंग्लिश मूवी देखते हो, गाने सुनते हो, न्यूजपेपर पढ़ते हो, लेकिन होता कुछ नही। इसका कारण ही यही है की, आप सिर्फ पढ़ते हो लेकिन प्रैक्टिस नही करते हो। पहली बार जब आप बोलते हो तो आप बीच में अटक जाते हो। बाद में आप बोलने से डरते हो।

आपको ऐसा नहीं करना है। आपको एक दिन दर लगेगा लेकिन बार बार बोलने से आपको कैसे बोलना है और words भी याद आयेंगे।
इंग्लिश बोलने के लिए comfort zone से बाहर आना पड़ेगा। Comfor zone मतलब दिन ने परिवार, फ्रेंड्स, और आप जिनसे बात करते हो। इन सभी के साथ आप हिंदी या फिर आपकी local lagnuage में बात करते होंगे।

आपको इन्ही लोगो के साथ इंग्लिश में बात करनी है। अगर ये लोग आपसे इंग्लिश में बात नही करते है तो अपनी circle change करे। उन लोगो के साथ रहना चालू करे जो हर दिन इंग्लिश बोलते है। इससे आपका फायदा ही होगा। आपको इंग्लिश बोलने और सीखने में कम से कम समय लगेगा।

यदि आप शुरू में ऐसा नहीं कर सकते तो आइने के सामने जाकर भी आप प्रैक्टिस कर सकते है। दोस्तो इंग्लिश बोलने के लिए communication बेहद जरूरी है, इसीलिए English classes ने group बनाकर discussion करने के लिए कहा जाता है।

इंग्लिश बोलने के लिए क्या करे?

दोस्तो, रिसर्च में माने तो इंग्लिश बोलने के लिए आपको कम से कम २१ दिन तक प्रैक्टिस करनी है। जानकारों का कहना है की किसी भी चीज को आप २१ दीन तक करते हो तो वो आप की habit बन जाती है। २१ दिन बाद आप उसे हर दिन करने लगते हो।

इन २१ दिनों के आप इंग्लिश पढ़ेगे और बोलेंगे भी, आप सिर्फ पढ़ेगे नही बल्कि आप सामनेवाले से इंग्लिश में ही बोलेंगे तभी आप जल्दी सीख पाएंगे। पहले तो दिमाग में बिठा ले की, मुझे इंग्लिश सीखनी ही है। अपने आप को promise करो की में ये कर के रहूंगा। प्रोमिस के साथ प्रैक्टिस करोगे तो आसानी से २१ दिन में इंग्लिश बोलने लगोगे। कम से कम समय में फर्राटेदार इंग्लिश मुंह से बाहर निकलेगी।

बोलते समय किसी से डरने के कोई जरूरत नहीं है। ये क्या सोचेगा वो क्या सोचेगा, शुरू में लोग टुंपर हसेंगे लेकिन वही लोग बाद में तुम्हारी तारीफ करेंगे की आपने कर दिखाया। अंत में कहूंगा की, जो चीज आप कल से शुरू करेंगे वो आज भी से शुरू करे ताकि देर न हो जाए। Happy journey for learning english।

हर दिन चलने वाला बिज़नेस, ५०००० तक कमा सकते हो !

अगर आपका कोई सवाल है तो नीचे कमेंट बॉक्स में पूंछे। धन्यवाद।

Leave a Comment

Your email address will not be published.