Essay on Jan Dhan Yojna in Hindi

Essay on Jan Dhan Yojna in Hindi : दिनांक 28 अगस्त 2014 में भारत के प्रसिद्ध प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा इस योजना की शुरुआत की गई. जिसमें भारत के लोगो को एक ऐसा खाता जिसे जनधन खाता नाम दिया गया था. उसे विनामूल्य निकालने की सुविधा मुहय्या कराई गई. मुद्रा बचत योजना का ही दूसरा नाम जन धन योजना है.

जन धन योजना बनाने का मकसद यही था कि, पिछड़े वर्ग के लोग यानी गरीब लोग जो कस्बे में, गांव में रहते हैं. इनकी आय को एक सुरक्षित जगह इकट्ठा करने के लिए एक खाता बनाया जाए. इस खाते में वह अपनी कमाए हुए पैसे इकट्ठा करें ताकि आने वाले भविष्य में आने वाले भविष्य में वही संपत्ति उनके काम में आए. (जन धन योजना पर निबंध)

पंतप्रधान नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई इस योजना को काफी प्रसिद्धि मिली. जनधन अकाउंट बनाने के कारण कमाई हुई रोजगार को इकट्ठा करना सिखाया. भारत विकासशील देशों में गिना जाने का यही कारण है कि यहां के ज्यादातर लोग गांव में कस्बों में रहते हैं जो अपना रोजगार बढ़ाना चाहते हैं. (जन धन योजना पर भाषण)

Essay on Jan Dhan Yojna in Hindi – जन धन योजना पर निबंध

भारत में गरीबी नजर आने का एक प्रमुख कारण है कि, यहां पर सामाजिक अस्थिरता है. जिसकी वजह से शिक्षा नौकरी और सामाजिक अस्थिरता के वजह से भारत में गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोगों की संख्या बहुत ज्यादा है.

ऐसे में पंतप्रधान नरेंद्र भाई मोदी ने फैसला लिया कि इन जो पिछड़े वर्ग के गरीब लोग हैं इनका पैसा बचना चाहिए. इसके लिए जन धन योजना के अंतर्गत एक जनधन खाता खुलवाया गया. इस खाते को आप बिना पैसे दिए जीरो बैलेंस के साथ खुलवा सकते हो.

आपको यह खाता खोलने के लिए सिर्फ आधार कार्ड की जरूरत पड़ती है. आधार कार्ड के माध्यम से आप यह खाता बस कुछ मिनट में खोल सकते हो. पंतप्रधान नरेंद्र मोदी हमेशा चाहते थे कि वह गरीब लोग जो हर दिन काम करके कुछ पैसा इकट्ठा करते हैं. उनका पैसा एक जगह सुरक्षित होना चाहिए ताकि आने वाले समय में वह उस पैसे की बचत की माध्यम से अपने भविष्य के बारे में कुछ अच्छा कार्य करें.

शिक्षा पर निबंध

इसके साथ ही पंतप्रधान नरेंद्र मोदी का सपना था कि, भारत में रहने वाले हर छोटे से लेकर बड़े आदमी का बैंक में खाता हो. वह अपने कमाए हुए पैसों का महत्व खुद जान सके.

पंतप्रधान नरेंद्र भाई मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के 2 दिन बाद २०१४ में इस योजना की शुरुआत की थी. इसमें जो भी जनधन खाता खुलता है उसे बैंकों से जोड़ने के एवं उनको सभी लाभ देने के लिए जो भी आवश्यक चीजें हो वह इस खाते से शुरू कर दी गई.

इस योजना को सफल बनाने के लिए बहुत से कार्यक्रम आयोजित किए गए. 2014 को शुरुआत हुई यह जन धन योजना अब के समय में एक सफल योजना बनकर सामने आई. अभी के मुताबिक जन धन योजना के अंतर्गत 20 करोड़ से ऊपर लोगों ने जनधन खाता खुलवाया है.

इस योजना को सफल बनाने के लिए और भी प्रयास किए गए जिसमें सभी सरकारी जगह, समाचार पत्र, न्यूज़ चैनल और अन्य जगह के माध्यम से इसका प्रसार तेजी से हर घर में हर शहर में हर राज्य में किया गया.

राष्ट्रवाद पर निबंध

जनधन खाते की माध्यम से जिनका अभी तक सरकार के पास कोई भी दस्तावेज नहीं था, वह लोग भी आज जन धन अकाउंट के माध्यम से सरकार के साथ जुड़ गए. साल 2014 में अनेक कार्यक्रम के माध्यम से आपका बैंक अकाउंट क्यों होना चाहिए इसकी जागरूकता हर घर में पहुंचाई गई.

जनधन खाते की माध्यम से आप अपने परिवार को कैसे एक अच्छा जीवन दे सकते हो, इसके बारे में जानकारी दी गई. इसके लिए हर शहर में, हर गांव में कैंप लगाए गए. इस कैंप के माध्यम से जनधन अकाउंट को पूरे राज्य में और राष्ट्र में तेजी से फैलाया गया.

साल 2014 में इसके तकरीबन 60 से लेकर 70000 कैंप पूरे राष्ट्र में लगाए गए. इस कैंप के माध्यम से जन धन अकाउंट की पूरी जानकारी लोगों को पहुंचाई गई इसके साथ-साथ उनका जनधन खाता भी इसे कैंप में खुलवाया गया.

अब के समय में पूरे राष्ट्र में 20 करोड़ से ज्यादा जनधन अकाउंट मौजूद है, जहां पर लोग अपने पैसों को इकट्ठा करते रहते हैं. इन पैसों को संभाल कर रखते हुए वह अपने परिवार का भविष्य सुदूर बनाने के लिए हमेशा ही कोशिश में लगे रहते हैं.

प्रतिभा पाटिल पर निबंध

जनधन खाते का फायदा उन गरीब महिलाओं को हुआ, जो हर दिन काम करके अपने घर को संभालती थी. उनका बैंक में कोई खाता नहीं था. वह मजदूरी करके अपने परिवार का पालन पोषण करती थी. उन महिलाओं को अपना रोजगार बचाने में जनधन खाते का फायदा बहुत ज्यादा हुआ. इसके साथ साथ जो बेसहारा लोग थे जिन्हें कोई सहारा नहीं था उनको सहारा मिल गया.

जनधन खाता बनाने का फायदा गरीब लोगों के साथ साथ उन बच्चों को भी हुआ जो शिक्षा ले रहे थे. इनका खाता खुलवाने से सरकारी योजना थी वह सीधे उनके बैंक अकाउंट में आने लगी. सरकारी खाता न होने की वजह से जो योजनाएं का फायदा विद्यार्थी लोग नहीं ले रहे थे उनका जनधन अकाउंट बनने के कारण अब वह आसानी से किसी भी योजना को अप्लाई कर सकते है.

जन धन योजना की मदद से सभी वर्गों के लोगों का फायदा हुआ है. एक अच्छी सोच रखकर एक अच्छी योजना की शुरुआत करना यह देश को आगे बढ़ाने के लिए एक अच्छी पहल है. ऐसे और योजनाएं अगले आने वाले समय में आनी चाहिए जिनकी मदद से गरीब वर्ग ताकतवर बन सके और पिछड़े हुए लोग को अपनी आमदनी बचाने के लिए कोई रास्ता मिल सके. Essay on Jan Dhan Yojna in Hindi में बस इतना ही. धन्यवाद.

मेरा स्कूल पर निबंध

error: Content is protected !!